आंगनवाड़ी भारती ऑनलाइन फॉर्म 2021 पोस्ट 50000


50000 पोस्ट के लिए यूपी आंगनवाड़ी भारती ऑनलाइन फॉर्म 2021

आवेदन  :-

पत्रों पत्रों की प्राप्ति तथा चयन की प्रक्रिया सम्बन्धित जनपद के की प्राप्ति जिलाधिकारी द्वारा पूर्णत : सम्पादित करायी जायेगी । निदेशक , बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार , उत्तर प्रदेश द्वारा एन 0 आई 0 मी 0 से केन्द्रीकृत प्रारूप विकसित कराकर जनपद की एन 0 आई 0 सी 0 को उपलब्ध कराया जायेगा , जिससे समरूपता बनी रहे एवं अभ्यर्थियों को आवेदन भरने में सुगमता हो । विज्ञापन प्रकाशित होने के उपरान्त चयन प्रक्रिया 45 दिवस में पूर्ण कर ली जायेगी । चयन समिति आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों , मिनी आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों एवं सहायिकाओं की भर्ती हेतु चयन के लिये शहरी / ग्रामीण क्षेत्रों हेतु चयन समिति का गठन निम्नवत् किया जाता है : 

( A) जिलाधिकारी द्वारा नामित मुख्य विकास अधिकारी

 अथवा अपर जिलाधिकारी स्तर का वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी अध्यक्ष ( 2 ) जनपद का जिला कार्यक्रम अधिकारी सदस्य सचिव ( 3 ) जनपद स्तरीय अनुसूचित जाति / जनजाति का अच्छी ख्याति प्राप्त जिला स्तरीय अधिकारी सदस्य ( 4 ) जनपद स्तरीय अन्य पिछड़ी जाति का अच्छी ख्याति प्राप्त जिला स्तरीय अधिकारी ( 5 ) जनपद में तैनात समूह ‘ क ‘ अथवा ‘ ख ‘ की महिला अधिकारी 4  सदस्य सदस्य

सम्बन्धित परियोजना का बाल विकास परियोजना अधिकारी सदस्य / प्रस्तुतकर्ता कोरम चयन समिति की बैठक में किन्हीं 04 सदस्यों की उपस्थिति अनिवार्य होगी , जिसमें जिला कार्यक्रम अधिकारी अनिवार्य रूप से उपस्थित रहेंगे , किन्तु उसमें अनुसूचित जाति / जनजाति एवं अन्य पिछड़ा वर्ग का प्रतिनिधित्व अनिवार्य होगा , जो सदस्य अनुपस्थित होगा , उसका विवरण अंकित किया जायेगा । मेरिट सूची एक ही श्रेणी में एक से अधिक पात्र अभ्यर्थियों के उपलब्ध होने की दशा में तैयार किये सभी अभ्यर्थियों की मेरिट लिस्ट बनायी जायेगी । इसमें हाईस्कूल , इण्टरमीडिएट जाने की | एवं स्नातक के अंकों पर विचार किया जायेगा , जिसके अन्तर्गत अभ्यर्थी द्वारा प्रक्रिया प्राप्त अंक प्रतिशत को 10 से विभाजित करने पर जो उत्तर प्राप्त होगा , वही उसका अंक माना जायेगा अर्थात यदि किसी अभ्यर्थी को हाई स्कूल परीक्षा में 45 प्रतिशत अंक प्राप्त हुए हैं ,

तो उसे 45 % 1034.5 अंक प्राप्त होंगे , इसी प्रकार यदि किसी अभ्यर्थी को 59 प्रतिशत अंक प्राप्त हए हैं . तो उसे 59 + 10 D5.9 अंक प्राप्त होंगे । इसी प्रकार ग्रेडिंग एवं सीजीपीए पद्वति में प्राप्त अंक भी आगणित किये | जायेंगे । इण्टरमीडिएट एवं स्नातक के प्राप्त अंक प्रतिशत के आधार पर भी इसी प्रकार अंक प्रदान किये जायेंगे । इससे अधिक शैक्षिक योग्यता रखने वाले अभ्यर्थी को कोई अतिरिक्त अंक नहीं दिये जायेंगे । समस्त परीक्षाओं के अंक जोड़ने के पश्चात् मेरिट लिस्ट तैयार की जायेगी । यदि एक से अधिक अभ्यर्थी समान अंक प्राप्त करते हैं , तो वरीयता अधिक आयु वाले अभ्यर्थी को दी जायेगी । यदि एक से अधिक अभ्यर्थी के अंक व आयु भी समान हों तो अधिक शैक्षिक योग्यता रखने वाले अभ्यर्थी को वरीयता दी जायेगी । आरक्षण

( A ) आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों 

व मिनी आंगनबाड़ी केन्द्र की कार्यकत्रियों , | सहायिकाओं की नियुक्ति में अनुसूचित जाति , अनुसूचित जनजाति , पिछड़ी जाति , विकलांग एवं स्वतंत्रता संग्राम सेनानी के आश्रितों तथा आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों हेतु समय – समय पर शासन द्वारा जारी आरक्षण से सम्बन्धित शासनादेशों का अनुपालन किया जायेगा । ( II ) जिन आंगनबाड़ी केन्द्रों की कार्यकत्रियों , मिनी आंगनबाड़ी केन्द्र की कार्यकत्रियों एवं सहायिकाओं के चयन के सम्बन्ध में पूर्व में कई बार चयन की कार्यवाही की जा चुकी है , लेकिन आरक्षित वर्गों की पात्र अभ्यर्थी उपलब्ध न होने के कारण चयन की कार्यवाही पूर्ण नहीं हो सकी है ,

उनमें से अनुसूचित जाति / पिछड़ी जाति के आरक्षित पद हेतु अधिकतम दो बार विज्ञप्ति प्रकाशित करायी जायेगी और यदि आरक्षित वर्ग के सम्बन्धित पात्र अभ्यर्थी उपलब्ध नहीं होते हैं , तो सम्बन्धित ग्राम सभा / न्याय पंचायत क्षेत्र से पुनः आवेदन – पत्र आमंत्रित किये जायेंगे । इसके बाद भी यदि पात्र अभ्यर्थी नहीं मिलते हैं , तो पूरी परियोजना में आरक्षण की स्थिति का पुनः आकलन कर लिया जाय और इस केन्द्र को अनारक्षित करते हुए आवश्यकता हो , तो किसी अन्य रिक्त केन्द्र को आरक्षण की श्रेणी में ले लिया जाये , जिसमें आरक्षित वर्ग की अभ्यर्थी उपलब्ध हो । यदि परियोजना स्तर पर उपरोक्त कार्यवाही किये जाने के उपरान्त भी आरक्षित वर्ग के 

Leave a Comment